/आम के रोगों की रोकथाम संबंधी जानकारी

आम के रोगों की रोकथाम संबंधी जानकारी

आम के मुख्य कीट व् रोग की रोकथाम हेतु छिडकाव सारिणी – वर्ष 2018

क्र० सं०

समय/अवस्था

दवाई का नाम

200 लीटर पानी के लिए दवा की मात्रा

जिन कीटो व् रोगों का रोकथाम होगा

1

जनवरी

के एम एस

या

एन ए ए

120 ग्राम

40 मि०ली०

मालफॉरमेशन

2

फरवरी- मार्च

(फूल खिलने से पूर्व )

इमिडाक्लोप्रिड

वेटेबल सल्फर

या

हैक्साकोनाजोल

50 मि०ली०

1000 ग्राम

100 मि०ली०

हॉपर

सफेद चूर्ण

3

मार्च- अप्रैल  (फल अवस्था मटर के दाने के बराबर)

हैक्साकोनाजोल

मोनोक्रोटोफ़ॉस

या

इमिडाक्लोप्रिड

या

ऑक्सी -डेमीटोन मिथाईल

100 मि०ली०

200 मि०ली०

50 मि०ली०

200 मि० ली०

सफेद चूर्ण

मिली बग

हॉपर

हॉपर

4

मई-जून

यदि पौधों पर कीड़ों का प्रकोप अधिक दिखाई दे तो फरवरी-मार्च में दर्शाये गए किसी एक कीटनाशक का प्रयोग करें।

5

जुलाई-अगस्त

बेट स्प्रे

(मैलाथियॉन+ गुड)

400 मि०ली० + 2 कि.ग्रा.

फ्रूट फ्लाई कीट ग्रसित व गिरे हुये फलों को एकत्रित करके दबा दें

6

सितम्बर

यदि पौधे पर कीट का आक्रमण दिखाई दे तो माह मार्च- अप्रैल में दर्शाये गए मोनोक्रोटोफॉस या ऑक्सी-डेमीटोन का छिड़काव करें ।

7

अक्तूबर

मालफोरमेंशन की रोकथाम हेतु माह जनवरी में दर्शाई गई दवाई का छिड़काव करें

आवश्यक जानकारी

  • आम के फ्रूट प्लाई कीट की रोकथाम हेतु माह अप्रैल से सितम्बर के दौरान पैराफिरोमोन युक्त ल्योर ट्रैप को फ्रूट प्लाई के व्यस्क पकड़ने के लिये प्रयोग करें।

बनाने की विधि :- इसे बनाने के लिए प्लाई बोर्ड के 80 x 20 x 18 मि. मि. के टुकडों को ईथेनाल, मिथाईल यूजीनोल और मैलाथियॉन के 6:4:1 अनुपात के घोल में (11 मि. ली प्रति टुकड़ा) 24 घण्टे डुबोने के उपरांत पालीयूरेथेन की बोतलों मे डालकर, इन बोतलों को जमीन से 1.5 मीटर की ऊंचाई पर आम के बगीचों में 12 ट्रैप प्रति हेक्टेयर स्थापित करें तथा इन्हें 15 दिनों के अंतराल के बाद साफ करते रहें।

Advertisements
  • यह छिडकाव सारिणी सामान्य मौसम के लिये है।
  • एक ही कीटनाशक/फफूंदनाशक का प्रयोग बार-बार न करें।
  • कीटनाशक/फफूंदनाशक का प्रयोग बीमारी की सम्भावना पर ही करें।

स्त्रोत: कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग, भारत सरकार

Source

Advertisements