/किसान ने उन्नतशील बीजों से बदली अपनी तकदीर, कड़ी मेहनत के बाद खेत उगलने लगे अनाज

किसान ने उन्नतशील बीजों से बदली अपनी तकदीर, कड़ी मेहनत के बाद खेत उगलने लगे अनाज

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, कानपुर
Updated Sun, 29 Dec 2019 02:14 PM IST

ख़बर सुनें

पारंपरिक खेती से हटकर औंडे़रा गांव के किसान श्रीराम ने उन्नतशील बीजों का सहारा लिया। जिसके बाद उसके खेतों ने अनाज उगलना शुरू कर दिया। नए प्रयोग कर किसान ने सफलता की कहानी गढ़ी। जिसके लिए उसे पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के जन्मोत्सव पर सम्मानित किया गया है।

विज्ञापन

राठ ब्लाक के औंडे़रा गांव निवासी श्रीराम ने बताया कि उसके पास 25 बीघा भूमि है। जिस पर पारंपरिक खेती से परिवार का गुजारा नहीं हो रहा था। ऊपर से प्राकृतिक आपदाओं ने उसे तोड़कर रख दिया था। बताया कि कृषि विभाग से उसे उन्नतशील खेती की जानकारी मिली। कुछ नया करने की ललक में करीब पांच वर्ष पूर्व वह कानपुर के सीएसए कालेज गया।

वहां से गेहूं की उन्नतशील प्रजाति का बीज लाकर अपने खेतों में बोया। बताया कि अच्छी पैदावार देख उसका हौसला बढ़ा। इस पर वह खेती में नए प्रयोग कर रहा है। बताया कि उसने पिछले साल गेहूं की 106 श्रीराम प्रजाति किस्म का बीज लाया था। बताया कि प्रति बीघा करीब 10 क्विंटल की पैदावार हुई है। वहीं प्रकाश प्रजाति का मटर एक बीघा में पांच क्विंटल तक की पैदावार हो जाती है।


आगे पढ़ें

विज्ञापन

Source

Advertisements