/दूध से क्रीम निकालने की प्रक्रिया और विभिन्न महत्वपूर्ण बातें

दूध से क्रीम निकालने की प्रक्रिया और विभिन्न महत्वपूर्ण बातें

परिचय

दूध कई उपयोगी पदार्थो का मिश्रण है। इसमें, वसा, प्रोटीन, चीनी, विटामिन और कई प्रकार की धातुएं होती है। हम मोटे तौर पर दूध को दो हिस्सों में बाँट सकते हैं एक तो वसा वाला भाग जिसे वसा कहते है और दूसरा वसा रहित पदार्थ जिसे एस.एम.एफ. कहते है। दूध की क्रीम में फैट दूध के अनुपात में काफी होता है। दूध से क्रीम निकालने के दो तरीके है एक तो दूध को गर्म करके उसको कुछ समय तक रखने से दूध पर मलाई आ जाती है जिसमें वसा की मात्रा दूध के अनुपात से अधिक होती है और यह तरीके बहुत कम मात्रा में दूध से वसा अलग कर सकते है और इस तरीके से काफी समय भी लगता है।

Advertisements

दूसरा तरीका क्रीम स्प्रेटर से दूध की क्रीम को निकालना, यह एक ऐसी मशीन है जो दूध की वसा का 66 प्रतिशत भाग क्रीम के रूप में दूध से अलग कर देती है। इस मशीन से दूध को काफी तेजी से धुमाया जाता है जिसके कारण वसा जो दूसरे भाग एस.एन.एफ. से हल्की होती है दूध से अलग हो जाती है। यह मशीन बिजली या हाथ से चलाई जाती है। छोटे पैमाने पर दूध का व्यवसाय करने वाले लोग इस मशीन का प्रयोग ज्यादातर करने लगे है। यह मशीन 5000 रूपये (हाथ से चलाने वाली) तक प्राप्त की जा सकती है।

क्रीम स्प्रेटर से अच्छी तरह क्रीम कैसे निकालें

क्रीम स्प्रेटर के सही उपयोग के लिए हमें निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना होगा:

  1. क्रीम स्प्रेटर का सही रूप से किसी भारी आधार के साथ नट बोल्टों की सहायता से पक्का कर देना चाहिए ताकि जब उसे चलाया जाए तो हिले नही। हिलने से स्प्रेटा दूध में फैट (वसा) की मात्रा अधिक जाती है।
  2. स्प्रेटर का हर हिस्सा साफ़ सुथरा होना चाहिए और इस्तेमाल के बाद इसको खोल कर अच्छी प्रकार से गर्म पानी से धोना और सुखा लेना चाहिए।
  3. स्प्रेटर में दूध डालने से पहले यदि दूध को हल्का गर्म किया जाए तो क्रीम में वसा अधिक मात्रा में निकलेगी।
  4. क्रीम स्प्रेटर को कम वोल्टेज पर नहीं चलाना चाहिए कम वोल्टेज से उसकी स्पीड में अंतर आ जाता है और स्प्रेटे दूध में अधिक फैट की मात्रा की हानि होती है।
  5. स्प्रेटर में गेयर आयल का ध्यान रखना चाहिए और इसे समय-समय पर बदलते रहना चाहिए।
  6. स्प्रेटर के विभिन्न हिस्सों को सावधानी और कुशलता से जोड़ना और खोलना चाहिए क्योंकि एक भी डिस्क खराब हो जाती है तो क्रीम स्प्रेटर अच्छी तरह काम नहीं करेगा।

क्रीम स्प्रेटर की कुशलता का मापदंड

क्रीम स्प्रेटर कितनी मात्रा में दूध की वसा (फैट) को क्रीम में प्रवर्तित करता है यह पता लगाने के लिए निम्नलिखित फार्मूले का प्रयोग किया जाता है।

प्रतिशत वसा की मात्रा जो क्रीम से प्राप्त हुई

किलोग्राम में क्रीम की मात्रा x किलो वसा एक किलो क्रीम में

=

किलोग्राम में दूध की मात्रा x किलो वसा एक किलो दूध में

उदाहरण

यदि 100 किलो दूध में जिसमें 7.5 प्रतिशत वसा है हमें क्रीम स्प्रेटर से 14.1 किलोग्राम क्रीम 52.5 प्रतिशत वसा वाली प्राप्त हुई। क्रीम स्प्रेटर की कार्य क्षमता का मूल्यांकन करें।

14.1 x (52.5/100)

कार्य योग्यता =                 = 68.7

100 x (7.5/100)

क्रीम की मात्रा की गणना

क्रीम स्प्रेटर से निकलने वाली क्रीम की मात्रा (किलोग्राम में) की गणना करने के लिए निम्नलिखित फार्मूले का प्रयोग किया जाता है।

एफ एम – एफ एस

सी = एम x

एफ सी – एफ एस

सी          = क्रीम की मात्रा (किलोग्राम)

एम         = दूध की मात्रा (किलोग्राम)

एफ एम     = दूध का प्रतिशत वसा

एफ एस     = स्प्रेटा दूध का प्रतिशत वसा

एफ सी      = क्रीम का प्रतिशत वसा

उदाहरण

100 किलो दूध जिसका फैट 7 प्रतिशत है उसमें हमें 50 प्रतिशत वाली कितनी क्रीम प्राप्त होगी जब स्प्रेटे दूध में 0.2 प्रतिशत वसा है।

7 – 0.2

सी = 100 x

50 – 0.2

6 .8

सी = 100 x

49.8

स्त्रोत: कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग, भारत सरकार

Source

Advertisements