//दो रूपये लीटर के खर्चे में तैयार होती है देशी खाद

दो रूपये लीटर के खर्चे में तैयार होती है देशी खाद

बांसवाडा के किसानों को देशी तरीके से तैयार कीटनाशी और खाद समृद्ध बना रही है। इससे पैदावार के साथ जमीन की गुणवत्ता बढ़ रही है। रिटायर रेंजर चंद्रप्रकाश पूरी बात बताते हैं कि देशी खाद फसलों में जैविक गुण को बढ़ा देती है। इससे गेहूँ, मक्का और अन्य फसलों के दाने मोटे होते हैं। यह खाद 2 रूपये प्रति लिटर में तैयार हो जाती है जबकि बाज़ार से केमिकल युक्त खाद किसान को 300 से 500 रूपये में मिलती है।

दस पर्णी अर्क:-
इसमें आक, पपीता, नीम, करंज, बेशर्म, रतनजोत, दुधी, धतुरा और सीताफल के पते कूटकर एक मटके में 20 लीटर पानी के साथ मिलाकर एक सप्ताह तक रख दें। प्रतिदिन लकड़ी की मदद से इसे हिलाते रहें, ताकि यह अच्छी तरह से घुलमिल जाये। छानकर 24 लीटर पानी में 2 लीटर अर्क मिलाकर छिडकाव करें।

अमृत पानी:-

एक एक बाल्टी गोबर, गोमूत्र, और पानी मिला लें। इसमें 50 ग्राम गुड़ को डाल कर एक मटके या तब में तिन दिन के लिए रख दें और समय समय पर लकड़ी की सहायता से हिलाते रहें। तीन दिन में कीटनाशी बन जाती है।

साभार:- दैनिक भास्कर

NOTE:-आपको हमारी ये पोस्ट कैसी लगी ये जरुर बताएं जिससे हम आप तक एसी कई रोचक जानकारी आप तक पहुंचाते रहें। एक बात और ये जो भी जानकारी मै आप तक पहुंचता हूँ वो मुझे भी कहीं ना कहीं से मिली होती है आप भी मेरी तरह प्रत्येक जगह से कृषि से जुडी ख़बरें आदि देखें पढ़ें और समझें जिससे आपका ही फायदा है आपका ज्ञान बढ़ता ही रहेगा। और आप में से ही किसी के पास ऐसी जानकारी भी हो सकती है जो हम तक नहीं पहुंची और इस ब्लॉग पर होनी चाहिए तो कृपया हमें बताएं हम सभी तक उसे पहुँचाने की कोशिश करेंगे। धन्यवाद।

Mukesh Kumar Pareek

https://www.hamarepodhe.com