//बारिश एवं ओलावृष्टि से हुई फसल नुकसान की भरपाई के लिए जारी की गई 30.39 करोड़ रुपये की मुआवजा राशि

बारिश एवं ओलावृष्टि से हुई फसल नुकसान की भरपाई के लिए जारी की गई 30.39 करोड़ रुपये की मुआवजा राशि

फसल नुकसान की भरपाई के लिए मुआवजा राशि

देश में वर्ष 2019-20 अच्छे मानसून के बाबजूद वर्ष भर कई राज्यों में बेमौसम बारिश एवं ओलावृष्टि से किसानों की फसलों को काफी नुकसान हुआ था | फसल नुकसान की भरपाई अलग-अलग राज्यों में किसानों को योजना के तहत मुआवजा वितरण किया जा रहा है | जिन किसानों की फसलों का बीमा था उन किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत मुआवजा दिया जा रहा है | हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण तथा पशुपालन मंत्री जेपी दलाल ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के नेतृत्व में राज्य सरकार ने किसान हित में हर फैसला तत्काल लिया है जिसके तहत किसानों को फसल नुकसानी की भरपाई के लिए 30.39 करोड़ रुपये की मुआवजा राशि जारी की गई है | 

उन्होंने कहा कि अक्टूबर 2019-20 की खरीफ और रबी फसलों को तेज बारिश व ओलावृष्टि में हुए खराबे हेतु मुआवजें के लिए 30 करोड़ 39 लाख 75 हजार रुपए से अधिक राशि जारी की है। असमय बारिश एवं ओलावृष्टि की वजह से किसानों की गेहूं, सरसों आदि की फसलें प्रभावित हुई थी। राज्य सरकार द्वारा प्रभावित फसलों की स्पेशल गिरदावरी करवाई गई थी जिसके आधार पर यह मुआवजा राशि जारी की गई है।

इन जिलों के किसानों को दिया गया फसल नुकसानी का मुआवजा

मंत्री जेपी दलाल ने विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि इस राशि में भिवानी जिले के किसानों के लिए 14 करोड़ 66 लाख 40 हजार रुपए,  रोहतक जिला के किसानों के लिए 7 करोड़ 28 लाख 49 हजार, महेंद्रगढ़ जिला के लिए 7 करोड़ 56 लाख 18 हजार तथा यमुनानगर जिले के किसानों के लिए 88 लाख 67 हजार रुपए की मुआवजा राशि दिया जाना शामिल है।

श्री दलाल ने बताया कि खराबे के कारण भिवानी जिला के उपमंडल लोहारू एवं तोशाम के अंतर्गत आने वाले विभिन्न गांवों के किसानों की 6235 एकड़ में खडी फसलें प्रभावित हुई थी। उन गावों में कासनी कला, कासनी खुर्द, सुरपुरा कला और सुरपुरा खुर्द, सिधनवां ,सेरला, गोपालवास, हरियावास व मंढोली कला गांव शामिल हैं। 

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

The post बारिश एवं ओलावृष्टि से हुई फसल नुकसान की भरपाई के लिए जारी की गई 30.39 करोड़ रुपये की मुआवजा राशि appeared first on Kisan Samadhan.

Source