//समर्थन मूल्य पर उपज मंडी में बेचने के लिए किसान 19 अप्रैल तक करवाएं पंजीकरण

समर्थन मूल्य पर उपज मंडी में बेचने के लिए किसान 19 अप्रैल तक करवाएं पंजीकरण

उपज मंडी में बेचने के लिए पंजीकरण

कोरोना वायरस के कारण रबी फसल की खरीदी में देरी हो रही है परन्तु अब यह साफ हो गया है कि इस माह से रबी फसल की खरीदी शुरू हो जाएगी | इसके लिए अलग – अलग राज्य सरकार ने तारीख तय करने लगी है | जहाँ मध्यप्रदेश सरकार ने फसलों की समर्थन मूल्य पर खरीदी की तारीख 15 अप्रैल तय की है वहीँ हरियाणा राज्य सरकार ने 15 अप्रेल से सरसों एवं 20 अप्रैल से गेहूं की खरीदी का फैसला लिया है |  हर बार की तरह इस वर्ष भी पंजीकृत किसानों से ही समर्थन मूल्य पर खरीदी की जाएगी |

कोरोना वायरस के कारण जिन किसानों ने न्यूनतम समर्थन मूल्य पर उपज बेचने के लिए पंजीयन शुरू नहीं कराया है उनके लिए हरियाणा राज्य सरकार ने एक और मौका दिया है | अब राज्य के किसान मेरी फसल–मेरा ब्यौरा पोर्टल पर आज से 19 अप्रैल तक पंजीयन करा सकते हैं | वे सभी किसानों जो मेरी फसल–मेरी ब्यौरा पोर्टल पर पंजीयन करवाएंगे वह सभी न्यूनतम समर्थन मूल्य पर रबी फसल को बेच सकते है | किसान समाधान गेहूं पंजीयन तथा खरीदी की जानकारी लेकर आया है |

न्यूनतम समर्थन मूल्य पर बेचने के लिए पंजीयन फिर से शुरू किए गया है

किसानों के द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य पर बेचने के लिए राज्य सरकार के पास पंजीयन करना जरुरी रहता है | हरियाणा राज्य के  किसानों ने न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं बेचने के लिए पंजीयन मेरी फसल – मेरा ब्यौरा करवाया था परन्तु कोरोना वायरस के कारण पंजीयन को बीच में ही रोक दिया गया था | अब तक लगभग 60 प्रतिशत किसानों ने गेहूं की फसल का पंजीकरण करवाया है जबकि 40 प्रतिशत किसानों ने अब तक पंजीकरण नहीं करवाया है | किसानों की सुविधा के लिए ही मेरी फसल–मेरा ब्यौरा पोर्टल पुन: खोल दिया गया है जो 19 अप्रैल तक खुला रहेगा |

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए खरीद केन्द्रों की संख्या बढाई गई

कोरोना वायरस को देखते हुए कम समय में ज्यादा खरीदी की योजना है | इस बार प्रतिदिन 1.5 लाख मीट्रिक टन गेहूं की खरीद करने का प्रस्ताव है | इसके लिए राज्य में खरीदी केन्द्रों की संख्या को बढ़ाया गया है | सरसों के लिए 140 मंडियों जबकि गेहूं की खरीद के लिए लगभग दो हजार मण्डी, उप – मण्डी व खरीदी केंद्र निर्धारित किये गये हैं |

किसानों को दिए जाएंगे कूपन

किसानों की सरसों व गेहूं की खरीद के लिए मेरी फसल-मेरा ब्यौरा पोर्टल के आधार पर दी गई जानकारी के अनुसार कूपन दिए जाएंगे ताकि मंडियों में किसान एक साथ उपज लेकर किसान न आएं और निर्धारित तिथि के अनुसार ही विशेष गांवों के किसान क्रमवार अपनी उपज मंडियों में लेकर आएं |

कब से शुरू की जाएगी खरीद

राज्य में किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदी शुरू होने जा रही है | इसके लिए सभी तैयारियां पूरी की जा रहा है | सरसों तथा चना कि खरीदी 15 अप्रैल से से की जाएगी तथा गेहूं कि खरीदी 20 अप्रैल से शुरू किया जाएगा | इस बार गेहूं की खरीद जून माह तक चलने की संभावना है |

मण्डी शुल्क का कुछ अंश कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए

सरकारी खरीदी में लगने वाले मण्डी शुल्क (आढती शुल्क) को कोरोना वायरस से निपटने के लिए दिया जाएगा | आढती एसोसिएशन ने आश्वासन दिया कि वे अपनी 2.5 प्रतिशत आढत में से 0.10 प्रतिशत रासी हरियाणा कोरोना रिलीफ फंड में दान करेंगे | केंद्र सरकार के दिशा – निर्देश पर न्यूनतम समर्थन मूल्य पर बेचने वाले किसनों को बोनस राशि दिया जाएगा |

मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर पंजीकरण के लिए क्लिक करें 

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

The post समर्थन मूल्य पर उपज मंडी में बेचने के लिए किसान 19 अप्रैल तक करवाएं पंजीकरण appeared first on Kisan Samadhan.

Source