सौर सामुदायिक सिंचाई परियोजना के तहत एकसाथ कई किसान ले रहे हैं सोलर पम्प से सिंचाई का लाभ

सामुदायिक सौर सिंचाई योजना

आधुनिक कृषि में सौर सिंचाई का महत्व लगातार बढ़ता जा रहा है क्योंकि इससे न केवल खेती लागत कम होती है वल्कि इससे किसान हर समय सिंचाई का लाभ ले सकता है | सौर उर्जा को बढ़ावा देने के लिए राज्य एवं केंद्र सरकार द्वारा कई योजनायें चलाई जा रही है जिसका लाभ कई किसानों को दिया जा रहा है | सोलर उर्जा से सिंचाई के लिए अलग-अलग राज्यों में योजनायें अलग-अलग नामों से चल रही है जिसका लाभ किसान भाई ले सकते हैं | छत्तीसगढ़ राज्य सरकार द्वारा सौर सुजला योजना पिछले कई वर्षों से चल रही है जिसके तहत किसान अपने खेत में सोलर पम्प लगवाकर खेतों में सिंचाई कर सकते है |

Advertisements

छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा चलाई जा रही सौर सुजाला योजना का एक घटक है “सौर सामुदायिक सिंचाई परियोजना” इसके तहत नदी या नहर अथवा अन्य सामुदायिक जल स्त्रोत सोलर पम्प से लेकर कृषकों को सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध करवाया जाता है |

कहाँ की जा रही है सौर सामुदायिक परियोजना के तहत सिंचाई

क्रेडा विभाग द्वारा सूरजपुर जिले में सौर सुजला योजना अन्तर्गत सौर सामुदायिक सिंचाई परियोजना के तहत 24 नग, 05 एच.पी. क्षमता के डी.सी. सोलर सरफेस पंप की स्थापना की गई है। यहॉ रेणुका नदी की धार बहती है, जिसमें जल संसाधन विभाग द्वारा एनीकट बनाकर वर्ष भर पानी उपलब्धता सुनिष्चित की गई है। इसी के दायें ओर 19 कृषकों की 49.35 हेक्टेयर जमीन एवं बायीं तरफ 05 कृषकों की 23.70 हेक्टेयर जमीन है। दोनों तरफ कुल 144 कृषकों की कुल 73.05 हेक्टेयर जमीन है जिसमें सोलर सरफेस पंप की सहायता से सिंचाई करने की व्यवस्था की गई है।

योजना के क्रियान्वयन से किसान अपने खेतों में ग्रीष्मकालीन फसल लगाकर सिंचाई करते हैं। इससे पूर्व किसानों के द्वारा केरोसीन पंप/डीजल पंप से सिंचाई कर कृषि कार्य किया जा रहा था, जिससे उनके आय से केरोसीन/डीजल क्रय करने में काफी नुकसान होता था। परंतु अब सौर सामुदायिक सिंचाई परियोजना के अंतर्गत सोलर सरफेस पंप लग जाने से वहां के किसानों द्वारा रबी फसल एवं जायद फसल के साथ ही साथ मौसमी सब्जियों का उत्पादन कर रहे हैं |

किसान सौर सुजला योजना के तहत कैसे पंजीकृत हो

इस योजना के लाभार्थियों के लिए छत्तीसगढ़ सरकार का कृषि विभाग (Agriculture Department) मुख्य पंजीयन प्राधिकरण (Registering Authority) है | किसान आवेदन करने के लिए मुक्त है पर रियायती दरों में सोलर पंप बांटने के लिए योग्य पात्रों को चयन कृषि विभाग (Agriculture Department) द्वारा किया जायेगा | इस योजना के लिए आवेदन पत्र ब्लॉक कार्यालयों और कृषि कार्यालयों में उपलब्ध है | आवेदन को ठीक से भर कर आवश्यक दस्तावेजों के साथ केवल कृषि कार्यालयों में प्रस्तुत करना होगा | इस योजना के लिए आवेदन शुल्क भी है | आवेदन प्राप्त होने के बाद CREDA (Chhattisgarh State Renewable Energy Development Agency) द्वारा जांच की जाती है की आवेदक इस योजना के लिए योग्य पात्र है या नही |

सौर सुजला योजना की पूरी जानकारी के लिए क्लिक करें

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

The post सौर सामुदायिक सिंचाई परियोजना के तहत एकसाथ कई किसान ले रहे हैं सोलर पम्प से सिंचाई का लाभ appeared first on Kisan Samadhan.

Source

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.