3 हजार 741 खाद बेचने वाले प्रतिष्ठानों पर की गई छापेमारी, कई प्रतिष्ठानों के लाइसेंस किये गए निरस्त

नकली खाद बेचने वालों के खिलाफ बड़ी कार्यवाही

किसान कई बार यह शिकायत करते हैं की उन्हें दूकानदार ने नकली खाद बीज दे दिया है और कई किसान खाद-बीज की जांच किये बिना ही उसका उपयोग कर लेते हैं जिससे उन्हें काफी नुकसान उठाना पड़ता है  ऐसे में किसानों को पता नहीं होता इसकी शिकायत कहाँ करें और किसान अपने आप को ठगा सा महसूस करते हैं | किसानों को पर्याप्त मात्रा में खाद (उर्वरक) उपलब्ध हो सके इसके लिए राज्य तथा केंद्र सरकार हर संभव कोशिश करती है| इसके साथ ही गुणवत्तापूर्ण उर्वरक किसानों को उपलब्ध करवाने का प्रयास भी सरकारों का रहता है | जब किसान कृषि विभाग में या अधिकारीयों को शिकायत करते हैं कई बार सरकार अपनी सूचना के आधार पर भी इन दुकानों एवं कंपनियों के खिलाफ कार्यवाही करती है | अभी उत्तरप्रदेश में कृषि मंत्री श्री सूर्य प्रताप शाही के निर्देश पर सभी जनपदों में एकसाथ खाद प्रतिष्ठानों पर कार्यवाही की गई |

Advertisements

उत्तर प्रदेश राज्य सरकार ने किसानों को पूर्ण पारदर्शिता के साथ उर्वरक मुहैया करने एवं उर्वरक की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए राज्य के 3741 उर्वरक व्यवसाय प्रतिष्ठानों पर छापे की कार्यवाही की है |

खाद दुकानों के लाईसेंस निरस्त

कृषि मंत्री श्री सूर्य प्रताप शाही के निर्देश पर किसानों को गुणवत्तायुक्त उर्वरक उपलब्ध करने की दृष्टि से प्रदेश के मंडलायुक्त एवं जिलाधिकारी द्वारा गत 10 जनवरी को सभी जनपदों के कुल 3,741 उर्वरक व्यवसाय प्रतिष्ठानों पर आकस्मिक छापे मारे गये हैं | श्री शाही ने बताया कि छ्पेमारी की कार्यवाही में कुल 1,528 नमूने संग्रहित किये गये | निर्धारित गुणवत्ता के अनुरूप उर्वरक न पाये जाने के कारण 224 प्रतिष्ठानों के लाईसेंस निलम्बित किये गये, जबकि 08 प्रतिष्ठानों के लाईसेंस निरस्त किये गये है |

इसके लिए कृषि मंत्री के तरफ से 9 जनवरी को मंडलायुक्त एवं जिलाधिकारियों को उर्वरक प्रतिष्ठानों पर आकस्मिक छापेमारी के निर्देश दिये गये थे | छापे के बाद आये रिपोर्ट के अनुसार 04 उर्वरक प्रतिष्ठानों के विरुद्ध आवश्यक वस्तु अधिनियम–1955 की धरा – 3 / 7 के अंतर्गत प्रथम सुचना रिपोर्ट दर्ज करायी गयी है | इसके अतिरिक्त 05 प्रतिष्ठानों को सील कर दिया गया है  | साथ ही 07 उर्वरक प्रतिष्ठानों पर उर्वरक की बिक्री प्रतिबंधित की गयी | इसके अलवा छापेमारी की कार्यवाही में 334 उर्वरक प्रतिष्ठानों को चेतावनी निर्गत की गयी है, जबकि 61 को कारण बताओं नोटिस जारी किया गया |

कृषि मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार पूर्ण पारदर्शिता के साथ किसानों को गुणवत्तायुक्त उर्वरक मुहय्या करवाने के लिए द्दढ संकल्पित है कहीं भी यूरिया खाद की कोइ कमी नहीं है | श्री शाही ने कहा कि किसी भी जनपद में किसानों को पर्याप्त मात्रा में उर्वरक उपलब्ध करने के लिए प्रतिबद्ध है तथा इसी के मद्देनजर किसनों को खाद की उपलब्धता भी सुनिश्चित करवाई जा रही है |

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

The post 3 हजार 741 खाद बेचने वाले प्रतिष्ठानों पर की गई छापेमारी, कई प्रतिष्ठानों के लाइसेंस किये गए निरस्त appeared first on Kisan Samadhan.

Source

Advertisements