फूलों की खेती में सावधानियाँ

परिचय झारखण्ड में पुष्प उत्पादन की असीम संभावनाएँ है। आरंभ में फूलों की खेती शौकिया तौर पर घर एवं बाग़ –बगीचा को सजाने के लिए की जाती थी। फूलों का उपयोग गुलदस्ता, माला बनाने, शादी…

खरगोश पालन सम्बन्धी कुछ आवश्यक बातें

परिचय खरगोश मुख्यत: मांस, चमड़ा, ऊन तथा प्रयोगशाला में शोध एवं मनोरजंन हेतु पाला जाता है। जाति: दुनिया में पालतू खरगोश की बहुत सारी जातियाँ है। यह आपस में आकार, वजन, रंग एवं रोयाँ में…

मुर्गियों को खिलाने के लिए दाना-मिश्रण

मुर्गियों को खिलाने के लिए दाना-मिश्रण अवयव चूजे प्रतिशत बढ़ने वाली अंडा देने वाली मुर्गी मकई 22 25 40 चावल का कण 35 45 30 चोकर 5 5 5 चिनियाबादाम की खली 25 16 15…

गाय एवं भैंस में गर्म होने के लक्षण…

गर्मी के लक्षण बार-बार चीखना, दूध कम हो जाना, भूख कम हो जाना, बेचैन मालूम पड़ना, दूसरी गाय के ऊपर चढ़ना, दूसरी गाय के गर्म गाय पर चढ़ने के समय गर्म गाय का चुपचाप खड़ी…

बकरी पालन: एक ग्रामीण व्यवसाय

परिचय बकरी ग्रामीण अर्थव्यवस्था की रीढ़ है और इससे प्राप्त होनेवाली वस्तुएं, दूध, बाल, चमड़े जैविक खाद इत्यादि सभी प्रकार से लाभदायक है। इसके पालन-पोषण में थोड़ी सावधानी एवं जानकारी से अधिक से अधिक लाभ…

हरियाणा गाय नस्ल सुधार कार्यक्रम

परिचय हरियाणा प्रदेश अपने पशुधन के लिए विश्वविख्यात है। प्रदेश का दुग्ध उत्पादन 74.42 लाख एवं  प्रति वर्ष प्रति व्यक्ति दूध की उपलब्धता 773 ग्राम है। राज्य की हरियाणा नस्ल की गाय दूध तथा भारवाही…

प्रमुख औषधीय एवं सुगंधित पौधों की पैकेज प्रणाली

अश्वगंधा सर्पगंधा मिटटी एवं जलवायु उष्ण से समशीतोष्ण, औसत तापमान 20-24 डिग्री सें.ग्रे. तथा वर्षा 100 सें.मी. वार्षिक। बलुई दोमट से हल्की रेतीली भूमि। भूमि का जल निकास अच्छा हो एवं पी.एच.मान 6-7 तक। गर्म…

झारखण्ड में महत्वपूर्ण वृक्षों की तकनीकी जानकारी

प्रजाति संग्रहण समय फल/बीज संग्रहण समय बुआई पूर्व बीजोपचार बीजोरोपण समय (पौधशाला में) पौधशाला में अंकुरण की सामान्य अवधि (दिनों में) वृक्षारोपण के वक्त पौधे की उम्र (महीनों में) वृक्षारोपण का समय वृक्षारोपण का तरीका…