/50 प्रतिशत के अनुदान पर मशरूम की खेती करने के लिए आवेदन करें

50 प्रतिशत के अनुदान पर मशरूम की खेती करने के लिए आवेदन करें

सब्सिडी पर मशरूम की खेती

पौष्टिकता से भरपूर सब्जी के रूप में मशरूम का तेजी से विकास हो रहा है | बाजार के अनरूप मांग को देखते हुए मशरूम की खेती पर भी बहुत अधिक जोर दिया जा रहा है | किसानों के लिए कम भूमि में तथा कम खर्चे में और कम समय अधिक उत्पादन के साथ मुनाफा देने वाली फसल बनते जा रही है | इसको ध्यान में रखते हुए सभी राज्य सरकार किसानों को मशरूम प्रोद्योगिकी प्रशिक्षण से लेकर खेती के लिए वित्तीय सहायता भी दे रही है |

Advertisements

मशरूम की खेती से महिलाओं को अधिक प्रोत्साहित किया जा रहा है | इसके अंतर्गत राज्य सरकार प्रदेश के किसानों को मशरूम की खेती के लिए लागत का 50 प्रतिशत अनुदान दे रही है | किसान समाधान इस योजना की पूर्ण जानकारी लेकर आया है |

किसानों को कितना सब्सिडी दिया जा रहा है ?

मशरूम की खेती के लिए बिहार राज्य सरकार किसानों को सब्सिडी दे रही है | योजना के अंतर्गत राज्य सरकार द्वारा क्रेडिट लिंक्ड बैंक इंडेड आधारित 50% अनुदान उपलब्ध कराया जा रहा है, जिसका लाभ कोई भी इच्छुक कृषक प्राप्त कर सकते हैं | मशरूम उत्पादन के लिए 20 लाख रूपये प्रति इकाई लागत पर 10 लाख रूपये सहायतानुदान दिया जा रहा है | मशरूम स्पान उत्पादन के लिए 15 लाख रूपये प्रति इकाई लागत पर 7.50 लाख रूपये अनुदान दिया जा रहा है | इसी प्रकार, मशरूम कम्पोस्ट उत्पादन के लिए 20 लाख रूपये प्रति इकाई लागत पर 10 लाख रूपये की सहायता राशि दी जाती है तथा 60 रूपये प्रति मशरूम कीट पर 54 रूपये अनुदान दिया जा रहा है |

मशरूम की खेती के लिए उपयुक्त वातावरण

बिहार की जलवायु विभिन्न प्रकार के मशरूम उत्पादन के लिए उपयुक्त है ओयस्टर मशरूम की खेती 20 से 30 डिग्री सेंटीग्रेट पर, बटन मशरूम की खेती 15 से 22 डिग्री सेंटीग्रेट पर तथा वृहत / स्वेट दुधिया की खेती 30 से 80 डिग्री सेंटीग्रेट तापमान पर की जा सकती है |

बिहार में मशरूम का उत्पादन

इस प्रकार , बिहार में मशरूम की विभन्न प्रजातियों की खेती सैलून भर व्यावसायिक स्तर पर प्राकृतिक ढंग से कम लागत में आसानी से की जा सकती है | प्राप्त आकड़ों के अनुसार वर्ष 2010 में बिहार में 400 टन बटन मशरूम एवं 80 टन ओयस्टर मशरूम का उत्पादन होता था, जो दिन प्रतिदिन बढती जा रही है , परन्तु बटन मशरूम का उत्पादन सामान्य पुआल की कुट्टी एवं गेहूं भूसा का उपयोग किया जा सकता है, परन्तु बटन मशरूम , श्वेत दुधिया मशरूम के व्यावसायिक उत्पादन हेतु एक विशेष प्रकार के कम्पोस्ट का निर्माण अति आवश्यक होता है |

मशरूम की खेती पर सब्सिडी हेतु आवेदन करें

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

The post 50 प्रतिशत के अनुदान पर मशरूम की खेती करने के लिए आवेदन करें appeared first on Kisan Samadhan.

Source

Advertisements