Author: Mukesh Kumar Pareek

इस वर्ष देश में होगा गेहूं, धान एवं अन्य फसलों का होगा बम्पर उत्पादन

वर्ष 2019-20 में गेहूं, धान एवं अन्य फसलों उत्पादन कृषि, सहकारिता और कल्याण विभाग ने वर्ष 2019–20 में खाधान्न, तिलहन तथा अन्य वाणिज्यिक फसलों के उत्पादन का दूसरा…

Continue reading

आम के अच्छे उत्पादन के लिए अभी करें इन दवाओं का छिड़काव

मंजर के समय करें आम की दवा आम के पेड़ों में मंजर (बौर) आना शुरू हो गए हैं,  अब समय आ गया है कि मंजरों की देख–भाल ठीक…

Continue reading

सरकार का बड़ा फैसला! अब किसान अपनी मर्जी से करवा सकेगें फसल बीमा

प्रधानमंत्री फसल बीमा अब हुआ स्वेच्छिक किसानों की लगातार मांग तथा किसान संगठनों के तरफ से किये जा रहे लगातार विरोध के बाद आखिरकार केंद्र सरकार ने किसानों…

Continue reading

शेड नेट हाउस, ग्रीन हाउस ढांचा, काजू एवं अन्य उद्यानिकी योजनाओं का लाभ लेने के लिए आवेदन करें

उद्यानिकी योजनाओं का लाभ लेने के लिए आवेदन करें देश में उद्यानिकी फसलों को बढ़ावा देने के लिए सरकार के द्वारा बहुत सी योजनायें चलाई जा रही हैं…

Continue reading

इस जिले में किसानों के 10.62 करोड़ रुपये के फसली ऋण किये गए माफ

किसान कर्ज माफी दूसरा चरण जय किसान फसल ऋण माफ़ी योजना का दूसरा चरण चल रहा है जिसमें किसानों के 50 हजार रुपये से 1 लाख रुपये तक…

Continue reading

यहाँ से किसानों ने 36 करोड़ रुपये के कृषि यंत्र सब्सिडी पर खरीदे

अनुदान पर कृषि यंत्रों की खरीद किसानों को सब्सिडी पर कृषि यंत्र देने के लिए कृषि मेला का आयोजना किया गया | यह मेला 17 फरवरी 2020 को…

Continue reading

कपास की खेती-मध्यप्रदेश के संदर्भ में

कपास रेशे वाली फसल हैं यह कपडे़ तैयार करने का नैसर्गिक रेशा हैं। मध्यप्रदेश में कपास सिंचित एवं असिंचित दोनों प्रकार के क्षेत्रों में लगाया जाताहैं। प्रदेश में…

Continue reading

किसान क्रेडिट कार्ड KCC बनवाने के लिए किसान यहाँ आयें

किसान क्रेडिट कार्ड हेतु शिविर प्रधामंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत जो भी किसान लाभ प्राप्त कर रहे हैं उन सभी किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड बनाया…

Continue reading

फसल का 33 प्रतिशत से अधिक नुकसान होने पर किसानों को दिया जाता है मुआवजा

किसानों को फसल नुकसान मुआवजा पात्र किसान प्रत्येक वर्ष किसानों किसी न किसी कारण से देश के अलग–अलग जिलों में फसल का नुकसान होता है | कभी अधिक…

Continue reading