बिहार में सर्दी का ठंडा अनीता देवी के चेहरे पर एक मुस्कुराहट लाता है। यह उसकी मदद करेगा, अनंतपुर में सैकड़ों अन्य महिलाओं और नालंदा जिले के 10 पड़ोसी गांवों के साथ, अधिक जैविक मशरूम विकसित करेंगी।मशरूम की खेती को बड़े पैमाने पर लेने से, आसपास के अन्य ग्रामीण महिलाओंRead More →

 गेहूँ (Wheat) Kingdom – Plantae – Plants Subkingdom – Tracheobionta – Vascular plants Superdivision – Spermatophyta – Seed plants Division – Magnoliophyta – Flowering plants Class – Liliopsida – Monocotyledons Subclass – Commelinidae Order – Cyperales Family – Poaceae – Grass family Genus – Triticum L. – wheat P गेहूं छोटी अवस्था में               गेहूँ की खेती विश्व के प्रायः हर भागRead More →

दोस्तों आप सभी का इतना प्यार और साथ मिल रहा है उसके लिए बहुत बहुत धन्यवाद। आप सब मेरी सारी पोस्ट पढ़ते हैं इस बात से मुझे बहुत ख़ुशी हो रही है।और मै ये ख़ुशी के पलों के साथ लाया हूँ आपके सामने एक और पोस्ट वैसे तो ये पोस्टRead More →

पालक  की  खेतीजलवायु एवं  भूमि:-पालक की खेती के लिए दोमट मिट्टी सर्वोत्तम होती है, पानी का निकास अच्छा होना अति आवश्यक हैI जिस भूमि का पी.एच 6 से 7 होता है, वह भूमि अच्छी मानी जाती हैI पालक की उन्नतशील प्रजातियां :-पत्ती और बीज के आधार पर दो-दो प्रकार कीRead More →

पौधा लगाने की विधि: [1] पौधा गड्ढे में उतनी गहराई में लगाना चाहिए जितनी गहराई तक वह नर्सरी या गमले में या पोलीथीन की थैली में था। अधिक गहराई में लगाने से तने को हानि पहुँचती है और कम गहराई में लगाने से जड़े मिट्टी के बाहर जाती है, जिससेRead More →

दोस्तों कई दिनों से मै वानस्पतिक नाम लिखने की कोशिश कर रहा था लेकिन लिख नही पा रहा था अंततः आज मै आप तक फसलों के वानस्पतिक नाम पहुंचा ही रहा हूँ। इसमें कोई त्रुटि रह गई हो तो जरुर बताना मै सुधार करने की कोशिश करूंगा। English – BotanicalRead More →

जब गेहूं के बीज को अच्छी उपजाऊ जमीन में बोया जाता है तो कुछ ही दिनों में वह अंकुरित होकर बढ़ने लगता है और उसमें पत्तियां निकलने लगती है। जब यह अंकुरण पांच-छह पत्तों का हो जाता है तो अंकुरित बीज का यह भाग गेहूं का ज्वारा कहलाता है। औषधीयRead More →

दुनिया में गेहूँ के दूसरे सबसे बड़े उत्पादक देश भारत ने इस फसल की बेहद खतरनाक माने जाने वाली बीमारी यूजी-99 के संक्रमण की प्रतिरोधक क्षमता रखने वाली गेहूँ की 22 किस्में विकसित की हैं।करनाल (हरियाणा) स्थित गेहूँ शोध निदेशालय (डीडब्ल्यूआर) के परियोजना निदेशक एसएस सिंह ने बताया, अपने शोधRead More →